संस्कृति प्रोडक्शन हाऊस के बैनर तले बनाये जा रहे क्वीज़ शो जीनियस कौन के लिये जिले में प्रवेश परीक्षा शांतिपूर्ण ढ़ंग से सम्पन्न

0
305

शिक्षा पर आधारित जिले के स्कूली बच्चो को लेकर संस्कृति प्रोडक्शन हाऊस द्वारा बनाये जा हरे जिले के पहले क्वीज़ षो के लिये प्रवेश परीक्षा सम्पन्न कराई गई, जनपद बिजनौर में स्कूलो से जिले की प्रतिभा चुनने के लिये संस्कृति प्रोडक्शन हाऊस के तत्वाधान में जिले भर के स्कूलो में कक्षा 9 से 12 तक के छात्र-छात्राओं ने रजिस्ट्रेशन करा कर प्रवेश परीक्षा फार्म भरे थे फार्म भरने वाले छात्र-छात्राओं के लिये क्वीज़ शो जीनीयस कौन में शामिल होने के लिये प्रवेष परीक्षा सम्पन्न कराई गई, परीक्षा सम्पन्न कराने के जिले जनपद भर में कुल 11 परीक्षाकेन्द्रो पर 50 से ज्यादा स्कूलो के कक्षा 9 से 12 तक के छात्र-छात्राओं ने प्रवेश परीक्षा में भाग लिया
बताते चले कि जिले की प्रतिभाओं को आगे लाने के लिये और उन्हे मंच प्रदान करने के लिये अग्रणी कार्य करने वाले संस्कृति प्रोडक्शन हाऊस के तत्वाधान में जनपद भर के सीबीएसई, आईसीएसई और यूपी बोर्ड के स्कूलो में कक्षा 9 से 12 तक के छात्र-छात्राओं को लेकर एक क्वीज़ शो बनाया जा रहा है क्वीज़ शो में चयन के लिये जिले के अलग अलग नगरो में 11 परीक्षाकेन्द्र बनाकर परीक्षा सम्पन्न कराई गई, जिसमें जिले भर से 50 से अधिक स्कूलो के कक्षा 9 से 12 तक के छात्र-छात्राओं ने परीक्षा दी, परीक्षा के बाद मेरिट के आधार पर चयनित प्रतिभागियों को लेकर 24 एपिसोड का एक क्वीज़ बनाया जायेगा, जिसका प्रसारण अभी तक चैनल पर किया जायेगा, क्वीज़ शो के दौरान पूछे गये सवाल जबाब की कसौटी को पार कर जनपद के जीनीयस का खिताब पाने वाले प्रतिभागी को गोल्ड मैडल और 11 हज़ार का नगद पुरूस्कार दिया जायेगा, साथ ही दूसरे और तीसरे पायदान पर आने वाले प्रतिभागियों को सिल्वर मैडल, 5100 रूपयें और कास्य पदक, 2100 रूपये पुरूस्कार स्वरूप दिये जायेगें, संस्कृति प्रोडक्शन हाऊस के उपाध्यक्ष अक्षय राजवंशी ने जानकारी देते हुए बताया कि इस क्वीज़ को बनाने का उद्दश्य जनपद की प्रतिभा को आगे लाना और शिक्षा क्षेत्र आगे बढ़ने के लिये उनकी हौंसला अफजाई करते हुए उन्हे छोटे पर्दे पर लाना है
उधर जिले के स्कूलो के बच्चो को लेकर बनाये जा रहे क्वीज़ शो को लेकर स्कूली बच्चे भी बेहद उत्साहित दिखाई दिये, परीक्षा के बाद स्कूली बच्चो के चेहरे बेहद खिले दिखे, परीक्षार्थियों की माने तो जिले की प्रतिभाओं के लिये एक प्लेटफार्म देने के लिये संस्कृति प्रोडक्शन हाऊस का ये अच्छा कदम है जिससे अपने जिले की होनहारो और प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं को आगे बढ़ने में मदद मिलेगी