मृत्यु उपरांत दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर

0
322

रेहड़ के गांव हरीकिशनपुर निवासी अर्द्ध सैनिक बल में कार्यरत युवक की सड़क दुर्घटना में हुई मौत के बाद सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया। हादसे से क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई।

यूपी उत्तराखंड बॉर्डर स्थित गांव हरीकिशनपुर निवासी रोहित कुमार ने बताया की उसका बड़ा भाई सोनू सिंह 37 वर्ष पुत्र रामकेश सिंह 2009 में सीआरपीएफ में भर्ती हुआ था। वर्तमान में वो नीमच मध्यप्रदेश में सब इंस्पेक्टर पद पर तैनात था। सोनू दो सप्ताह पूर्व अवकाश पर गांव आया था। गत बृहस्पतिवार 22 सितम्बर को वह किसी काम से बाइक से जसपुर उत्तराखंड गया था। जहां से शाम को वापस घर आते समय उसकी बाइक किसी तेज गति से आ रहे वाहन से बचने के प्रयास में विपरीत दिशा से आ रही ट्रैक्टर ट्रॉली से टकरा गई।हादसे में सोनू को गम्भीर चोटें आ गई।परिजन घायल को उपचार के लिए पहले काशीपुर फिर मुरादाबाद तथा बाद में दिल्ली एक निजी चिकित्सालय में ले गए जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। शव घर पहुंचने पर परिवार में कोहराम मच गया। गांव के बाहर दक्षिण में स्थित फीका नदी के किनारे मृतक का अंतिम संस्कार कर दिया। अंतिम संस्कार के समय ग्रुप सेंटर सीआरपीएफ नोयडा से इंस्पेक्टर रणवीर सिंह के नेतृत्व में आई दस जवानों की बटालियन ने मातमी धुन बजाकर तथा शस्त्र उल्टे कर मृतक को गार्ड ऑफ ऑनर दिया।

Leave a Reply