नम आंखो के बीच शहीद की विदाई

0
275

 

 

 

 

 

बिजनौर के फतेहपुर निवासी सेना के जवान गजेंद्र सिंह का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव फतेहपुर पहुंचा, जहां शहीद को पूरे सम्मान के साथ अंतिम विदाई दे दी गई, शहीद के अंतिम संस्कार में भारी संख्या में क्षेत्र के लोग सेना के अधिकारी भी शामिल हुए, बताते चले कि फतेहपुर निवासी गजेन्द्र सिंह आर्मी में सिपाही थे, गजेन्द्र की तैनाती सिक्किम के डोकलाम में थी, जहां अपनी बैरक पर रखवाली के लिये जाते वक्त उनकी गाड़ी 25 फिट गहरी खाई में जा गिरी थी देश सेवा में तैनात इस गाड़ी में सवार जहां राजस्थान निवासी एक सिपाही, बिजनौर के गजेन्द्र सिंह की मौत हो गई थी वहीं गाड़ी सवार तीसरा जवान घायल हो गया था, शहीद गजेन्द्र ने देश सेवा में अपनी जान दे दी, गजेन्द्र सिंह अपने पीछे दो बच्चे और भरा पूरा परिवार रोते बिलखते छोड़ गये, गजेन्द्र का पार्थिव शरीर फतेहपुर पहुँचने पर उन्हे हज़ारो नम आंखो के बीच सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई, वहीं देश सेवा में अपना एक बेटा खोने के बाद गजेन्द्र के पिता सीताराम ने कहा कि उन्हे अपने बेटे की शहादत पर गर्व है और वो अपने दूसरे बेटे और अपने पोतो को भी देष की सेवा के लिये सेना में भेजेंगे
शहीद गजेन्द्र अपने घर में बड़े पुत्र थे वहीं उनकी शहादत के बाद उनके छोटे भाई देवेन्द्र ने भी भाई की तहर ही सेना में जाकर देश की सेवा करने की ठानी है अभी तक चैनल परिवार भी शहीद गजेन्द्र को कोटि कोटि नमन करता है और उनके परिवार के जज्बे को सलाम करता है