गंगा मेले के नाम पर झूला लगाने वालों से की ठगी…. झूले वालों ने ठग को पकड़ा

0
66

उत्तर प्रदेश सरकार में अपराधियों को कोई भी जगह नहीं दी जा रही है। चाहे वह चोर,लफंगे, डकैत, ठग हो परंतु चांदपुर तहसील के ब्लॉक जलीलपुर में एक व्यक्ति ने लोगों को धोखा देकर रुपए ठगने का धंधा बना रखा है। जिसकी दर्जनों शिकायतें हो चुकी हैं ।थाने में मुकदमा दर्ज हो चुका है तथा जेल भी काट चुका है, परंतु वह अपने गलत कारनामे नहीं छोड़ रहा है। 27 नवंबर को गंगा स्नान का मेला नारनौर घाट पर आयोजित होगा। मेले में झूले एवं खेल, खिलौने के आइटम लगाने वाले व्यक्ति सलीम से गजेंद्र नामक व्यक्ति ने 10000 रूपये ऐठ लिए। गजेंद्र ने झूला लगाने वालों से धोखा देते हुए कहा कि इस मेले को मैं लगवाऊंगा। मुझे परमिशन हो गई है, तुम अपना सामान मेले में लगा लेना। राज तब खुला जब झूले वालों ने गजेंद्र को फोन करके कहा कि हम किस तारीख में अपना सामान लेकर नारनौर घाट पर लगने वाले मेले में आ जाये। गजेंद्र ने अपना फोन नहीं उठाया। तीन चार दिन लगातार फोन करने के बाद पीड़ित सलीम ब्लॉक जलीलपुर स्थित गजेंद्र की दुकान पर पहुंचा। मौका पाकर गजेंद्र अपनी दुकान से हट गया। सलीम ठेकेदार ने जलीलपुर स्थित एक कार्यालय परिसर में अचानक गजेंद्र को पकड़ लिया तथा शोर मचाया। वहां लोगों ने बताया कि गजेंद्र बसंतपुर का निवासी है। इसने दर्जनो लोगों को समूह के नाम लोन दिलवाकर उनके नाम एटीएम जारी कराकर लगभग डेढ़ करोड़ रुपए की हेरा फेरी की है। गजेंद्र ने नमामि गंगे नाम से एक ट्रस्ट बना रखा है जिसकी आड़ में लोगों को धोखा देकर अवैध कमाई कर रहा है। गजेंद्र के अपराधिक वृत्ति के व्यक्तियों से भी संबंध है। जिनके नाम समूह से लोन दिलाया गया है ।उनको धनराशि नहीं मिली। सभी गरीब तबके के लोग हैं। अधिकारियों के चक्कर काट रहे हैं