बदमाश के खौफ से पलायन को मजबूर ये परिवार,,,,,,

0
284

 

 

 

 

 

 

 

 

प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद जहां गुंडो के सफायें के लिये एनकांउटर अभियान चलाये जा रहे है सरकार की मंशानुरूप पुलिस बदमाशों की धरपकड़ में लगी है मुठभेढ़ के जरियें या तो बदमाषो का खात्मा करने या फिर उन्हे जेल की सलाखो में डालने के इस अभियान से एक तरफ जहां सरकार और पुलिस अपने नंबर बढ़ा रही है वहीं सीएम योगी की मंषा और पुलिस के खौफ को इन दिनो बिजनौर में कुख्यात बदमाष और उसकी गैंग ने एक परिवार का जीना मुहाल कर रखा है मामला स्योहारा थाना क्षेत्र में पड़ने वाले गांव राना नंगला का है जहां के रहने वाले एक लाख रूप्यें के कुख्यात ईनामी बदमाष आदित्य राणा ने पहले तो मुखबिरी के षक में मुकेष नाम एक युवक को गोलियेां से भूनकर मौत के घाट उतार डाला, उसके बाद भी बिजनौर सहित कई जिलो की पुलिस और खूफिया तंत्र आदित्य को पकड़ने में नाकाम रहे, इतना ही नही पुलिस और खूफिया विभाग को अंगूठा दिखाते हुए कुख्यात आदित्य ने बिजनौर कोर्ट पहंुचकर सरेंडर कर दिया, आदित्य फिलहाल मेरठ जेल में बंद है लेकिन कुछ ही दिन पहले आदित्य गैंग के गुर्गो ने मुकेष हत्याकांड की पैरवी कर रहे उसके भाई राकेष की दिनदहाड़े गोलियों से भूनकर हत्या कर डाली, आरोप है कि आदित्य के खौफ में जी रहे परिवार ने कई बार पुलिस अभिरक्षा की मांग की लेकिन कोई मदद नही मिली, घर के दो जवान बेटो की हत्या के बाद अब ये परिवार डर और खौफ के साये में इस कदर डूब चुका है कि परिजन गांव छोड़ने और पलायन करने का मजबूर है परिजनो ने राना नंगला गांव स्थित अपने घर के बाहर मकान बिकाऊ है का ईष्तेहार लगाया है पूरे इंसाफ की राह देखते देखते दो लोगो की जान गंवा बैठे परिजनो ने अब 5 अक्टूबर को बिजनौर कलैक्ट्रेट में सामूहिक रूप से आत्महत्या करने की चेतावनी दी है उधर अपर पुलिस अधीक्षक विष्वजीत श्रीवास्तव का कहना है कि पुलिस राकेष हत्याकांड में षामिल दो हत्यारो को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है साथ ही परिजनो के लिये गांव में पुलिस को तैनात कर रखा है परिवार जनो के पलायन को लेकर पुलिस जांच करने की बात कर रही है

Leave a Reply